Header Ads

आज राहुल द्रविड़ पर आने वाला है बड़ा फैसला, आखिर क्या है पूरा मामला?


पूर्व भारतीय कप्तान राहुल द्रविड़ अपने खिलाफ लगाए गए हितों के टकराव के आरोपों का जवाब देने के लिए गुरुवार को बीसीसीआई के नैतिक अधिकारी डीके जैन के समक्ष पेश होंगे। द्रविड़ अभी बंगलूरू में राष्ट्रीय क्रिकेट अकादमी (एनसीए) में निदेशक हैं।


इसके अलावा वह इंडिया सीमेंट ग्रुप के उपाध्यक्ष हैं जिसके पास आईपीएल फ्रेंचाइजी चेन्नई सुपरकिंग्स का मालिकाना हक है। एनसीए में पद संभालने से पहले 46 वर्षीय द्रविड़ भारत ए और अंडर-19 टीमों के कोच थे। एनसीए निदेशक रहते हुए वह इन दोनों टीमों की प्रगति पर भी निगरानी रखेंगे। 

मध्यप्रदेश क्रिकेट संघ (एमपीसीए) के आजीवन सदस्य संजीव गुप्ता ने आरोप लगाया है कि द्रविड़ की भूमिका हितों के टकराव के दायरे में आती है क्योंकि वह एनसीए प्रमुख और इंडिया सीमेंट के कर्मचारी भी हैं। द्रविड़ पहले ही अपना जवाब दे चुके हैं कि उन्होंने अपने नियोक्ता इंडिया सीमेंट से अवकाश लिया है और उनका चेन्नई सुपरकिंग्स से कोई लेना देना नहीं है। 

इसी तरह से बीसीसीआई कर्मचारी मयंक पारिख को भी गुरुवार को आचरण अधिकारी के समक्ष पेश होने के लिए कहा गया है। बीसीसीआई संविधान के अनुसार कोई भी व्यक्ति एक से अधिक पद नहीं संभाल सकता है। बीसीसीआई नैतिक अधिकारी सुनवाई के आधार पर फैसला सुनाएंगे। 

No comments

Powered by Blogger.